WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

Prime Minister Employment Generation Program 2023: जाने PMEGP के लिए आवेदन और पात्रता!

prime minister employment generation program 2023: भारत में सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम (एमएसएमई) मंत्रालय द्वारा शुरू की गई एक अभूतपूर्व क्रेडिट-लिंक्ड सब्सिडी योजना है। इस योजना का उद्देश्य ग्रामीण और शहरी दोनों क्षेत्र के युवाओं के लिए रोजगार के अवसर पैदा करना, उद्यमिता को बढ़ावा देना और पूरे देश में आर्थिक विकास को बढ़ावा देना है।

Table of Contents

pmegp के तहत, बेरोजगार व्यक्तियों को अपना खुद का व्यवसाय शुरू करने और देश में विभिन्न क्षेत्रों के विकास में योगदान करने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है। यह दूरदर्शी पहल न केवल युवाओं को सशक्त बनाती है, बल्कि बेरोजगारी को कम करने और पारंपरिक शिल्प और आधुनिक उद्योगों के बीच अंतर को पाटने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है।

Prime Minister Employment Generation Program 2023
Prime Minister Employment Generation Program 2023: जाने PMEGP के लिए आवेदन और पात्रता!

प्रधान मंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम (पीएमईजीपी) एक क्रेडिट-लिंक्ड ब्याज कार्यक्रम है जो ग्रामीण और शहरी दोनों क्षेत्रों में एमएसएमई मंत्रालय द्वारा रोज़गार के अवसर पैदा करने के लिए शुरू किया गया है। इस योजना के तहत बेरोजगार युवाओं को अपना खुद का व्यवसाय शुरू करने के लिए 20 लाख रु. से 50 लाख तक का लोन दिया जाता है। आप जो व्यवसाय शुरू करने वाले हैं, उसकी लागत 5% से 10% है यानि की आपको कुल प्रोजेक्ट खर्च का सिर्फ 5 से 10 % ही खर्च करना है | 15% से 35% तक सरकार की ओर से सब्सिडी के रूप में दिया जाता है और शेष बैंक टर्म लोन के रूप में देता है, जो PMEGP लोन कहलाता हैं। सर्विस यूनिट के लिए प्रोजेक्ट कॉस्ट 20 लाख रुपये और मैन्युफैक्चरिंग यूनिट के लिए 50 लाख रुपये।

PMEGP के तहत, उन लोगों को वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है जिनके पास कला है , जो अपना खुद का व्यवसाय शुरू करना चाहते है, उनके पास रोजगार की कमी है और उनके पास निवेश के लिए पैसे नही है | क्यूंकि देश में इस तरह की समस्या आम है | इसलिए सरकार ने ये योजना चलाई है | इस लेख में, हम पीएमईजीपी योजना के बारे मे, इसकी पात्रता मानदंड, आवश्यक दस्तावेज, भारत के विकास के लिए लाभ और आवेदन प्रक्रिया के विवरण पर विस्चतार से चर्चा करेंगे|

join my telegram channel JOIN
Join my WhatsApp group JOIN
Check for latest updaterjstudyexam

prime minister employment generation program Overview

संस्था का नाम/ मंत्रालय सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम (एमएसएमई) मंत्रालय
प्रोग्राम का नाम prime minister employment generation program( प्रधानमंत्री रोजगार सृजन प्रोग्राम
)
कब शुरू हुई 15 अगस्त 2008
ब्याज दरअलग-अलग बैंक व लोन संस्थानों पर निर्भर करती है
आय न्यूनतम 18 वर्ष
अधिकतम प्रोजेक्ट कॉस्टमैन्यूफैक्चरिंग यूनिट के लिए ₹25 लाख
सर्विस यूनिट के लिए ₹20 लाख
प्रोजेक्ट पर सब्सिडी 15% से 35%
योग्य आवेदकबिज़नेस मालिक, संस्थान, को-ऑपरेटिव सोसाइटी, चैरिटेबल ट्रस्ट व स्वयं सहायता समूह
शैक्षणिक योग्यताकम से कम 8th पास

prime minister employment generation program 2023 की विशेषताएं

  • युवाओं के लिए वित्तीय सहायता: पीएमईजीपी योजना युवाओं को उनके उद्यमिता की सामर्थ्य को विकसित करने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करती है। इसके तहत उन्हें व्यवसाय शुरू करने के लिए आवश्यक लोन प्रदान किया जाता है जिससे उन्हें स्वयं-रोजगार का मौका मिलता है।
  • विभिन्न व्यवसाय विकल्प: योजना के अंतर्गत युवाओं को विभिन्न व्यवसाय विकल्प प्रदान किए जाते हैं जैसे कि कृषि, उद्योग, खुदरा, सेवाएं आदि। इसके तहत उन्हें उनके कौशल और रुचियों के आधार पर उद्यमिता करने का मौका मिलता है।
  • कम ब्याज दर: पीएमईजीपी योजना के तहत दिए जाने वाले लोन की ब्याज दरें काफी कम होती हैं जो युवाओं को आत्म-निर्भर बनाने में मदद करती है।
  • स्वयं-रोजगार का प्रोत्साहन: योजना युवाओं को स्वयं-रोजगार के पथ पर मार्गदर्शन करने के लिए एक महत्वपूर्ण योजना है। इसके तहत उन्हें नए व्यवसाय शुरू करने के लिए प्रेरित किया जाता है और उन्हें आत्म-निर्भर बनने का मार्ग दिखाती है।
  • विभिन्न सेक्टरों में अवसर: पीएमईजीपी योजना के तहत युवाओं को विभिन्न सेक्टरों में उद्यमिता करने का अवसर मिलता है। वे कृषि, उद्योग, खुदरा, सेवाएं आदि में अपने अनुसार व्यवसाय शुरू कर सकते हैं और आत्म-निर्भर बन सकते हैं।
  • बेरोजगारी की समस्या का समाधान: यह योजना बेरोजगारी की समस्या का समाधान प्रदान करती है और युवाओं को नौकरी की बजाय स्वयं-रोजगार के लिए प्रेरित करती है। इससे उन्हें आत्म-समर्पण और समर्पण की भावना होती है और वे अपने व्यवसाय को सफलता तक पहुँचाने के लिए पूरी मेहनत करते हैं।
  • वित्तीय स्वरोजगार का माध्यम: पीएमईजीपी योजना युवाओं को वित्तीय स्वरोजगार का माध्यम प्रदान करती है जिससे उन्हें आत्म-निर्भर बनाने का मौका मिलता है। वे बैंक से कम ब्याज दर पर लोन प्राप्त करके अपने व्यवसाय को बढ़ावा देने में सक्षम होते हैं।
  • रोजगार के अवसर: यह योजना नए व्यवसाय शुरू करने के लिए युवाओं को रोजगार के अवसर प्रदान करती है। उन्हें अपने कौशल और रुचियों के अनुसार व्यवसाय चुनने का मौका मिलता है और वे अपने व्यवसाय में सफलता प्राप्त कर सकते हैं।

इस योजना का उद्देश्य युवाओं को रोजगार के अवसर प्रदान करना है और उन्हें स्वयं-रोजगार के पथ पर मार्गदर्शन करना है। यह योजना ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों के लिए उपलब्ध है और उन्हें नए व्यवसाय शुरू करने के लिए आवश्यक वित्तीय सहायता प्रदान करती है। इसके तहत लोन की ब्याज दरें भी काफी कम होती हैं जिससे युवाओं को आत्म-निर्भर बनाने में मदद मिलती है।

Prime Minister Employment Generation Program 2023
join my telegram channel JOIN
Join my WhatsApp group JOIN
Check for latest updaterjstudyexam

प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम की वित्तीय सहायता:

prime minister employment generation program के तहत लाभार्थी को वित्तीय सहायता अलग अलग क्षेत्र के हिसाब से मिलती है यानि की ग्रामीण और शहरी क्षेत्र

PMEGP के तहत सब्सिडी और फंडिंग

लाभार्थी श्रेणियाँलाभार्थी का हिस्सा(कुल प्रोजेक्ट का)सब्सिडी दर(सरकार से) – शहरीसब्सिडी दर(सरकार से) – ग्रामीण
सामान्य वर्ग (जनरल कैटेगरी)10%15%25%
एससी/ एसटी/ ओबीसी, अल्पसंख्यक, महिला, पूर्व-रक्षा कर्मचारी, शारीरिक रूप से अक्षम व्यक्ति और उत्तर-पूर्व क्षेत्र, पहाड़ियों और सीमा क्षेत्र में रहने वाले स्पेशल कैटेगरी के आवेदक5%25%35%

बैंक कुल राशी का शेष अमाउंट आपको लोन के रूप में देता है, यानि की बैंक से आपको लोन लेना पड़ेगा इस program के तहत और सरकार से दी जाने वाली सब्सिडी को आपको वापस नही करना पड़ेगा | सरकार ने आपके वित्तीय भार को कम करने के लिए सब्सिडी देकर आपकी मदद की है | आपको तो सिर्फ कुल राशी का 5 से 10% ही खर्च करना होगा |

प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम की पात्रता:

पीएमईजीपी के लिए पात्र होने के लिए कोई भी व्कियक्सीति आवेदन कर सकता है इसके लिए व्यक्ति को निम्नलिखित मानदंडों को पूरा करना होगा:

  • शैक्षणिक योग्यता कम से कम 8वीं पास हो
  • व्यक्ति की आयु न्यूनतम आयु 18 वर्ष हो
  • यह योजना व्यक्तियों, संस्थानों, स्वयं सहायता समूहों, धर्मार्थ ट्रस्टों, समितियों, सहकारी समितियों और उत्पादन सहकारी समितियों के लिए खुली है।
  • विनिर्माण क्षेत्र में 10 लाख रुपये से अधिक लागत वाली परियोजनाओं के लिए कम से कम आठवीं कक्षा उत्तीर्ण।
  • मौजूदा इकाइयाँ (पीएमआरवाई, आरईजीपी या भारत सरकार या राज्य सरकार की किसी अन्य योजना के तहत) और वे इकाइयाँ जो पहले से ही भारत सरकार या राज्य सरकार की किसी अन्य योजना के तहत सरकारी सब्सिडी का लाभ उठा चुकी हैं, पात्र नहीं हैं।
  • व्यवसाय/सेवा क्षेत्र में 5 लाख रु. पीएमईजीपी के तहत मंजूरी के लिए केवल नई परियोजनाओं पर विचार किया जाता है। यानि की अगर वर्तमान में आपके कोई व्यवसाय चालू भी है तो आप इस pmegp के तहत पात्र नही होंगे |
join my telegram channel JOIN
Join my WhatsApp group JOIN
Check for latest updaterjstudyexam

प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के आवश्यक दस्तावेज

आवेदक के पास pmegp में आवेदन करने के लिए निम्न आवशयक दस्त्तावेज होने चाहियें –

  • जिसमें भरा हुआ आवेदन पत्र,
  • आधार कार्ड
  • पैन कार्ड
  • मूल निवास
  • आय प्रमाण पत्र
  • विशेष श्रेणियों के लिए प्रासंगिक प्रमाण पत्र
  • ईडीपी प्रशिक्षण प्रमाण पत्र
  • बैंक द्वारा निर्दिष्ट अन्य दस्तावेज
  • परियोजना रिपोर्ट
  • शिक्षा! ईडीपी!कौशल विकास प्रशिक्षण प्रमाणपत्र

पीएमईजीपी, भारत के विकास के लिए लाभ:


पीएमईजीपी योजना के भारत के विकास के लिए दूरगामी लाभ हैं:

  1. रोजगार सृजन: नए व्यावसायिक उद्यमों का समर्थन करके, पीएमईजीपी युवाओं के लिए रोजगार के अवसर पैदा करता है, बेरोजगारी को कम करता है और देश की आर्थिक वृद्धि में योगदान देता है।
  2. उद्यमिता प्रोत्साहन: यह योजना विभिन्न क्षेत्रों में नवाचार और रचनात्मकता को बढ़ावा देकर व्यक्तियों को उद्यमी बनने के लिए प्रोत्साहित करती है।
  3. कौशल विकास: पीएमईजीपी व्यक्तियों के कौशल सेट को बढ़ाने, उन्हें नौकरी बाजार और विभिन्न उद्योगों की मांगों के साथ संरेखित करने पर केंद्रित है।
  4. ग्रामीण-शहरी संतुलन: यह योजना ग्रामीण क्षेत्रों में स्थायी रोजगार के अवसर प्रदान करके ग्रामीण-शहरी प्रवास को रोकने में मदद करती है, जिससे सभी क्षेत्रों में संतुलित विकास को बढ़ावा मिलता है।
  5. पारंपरिक शिल्प का संरक्षण: पीएमईजीपी पारंपरिक कारीगरों और आधुनिक उद्योगों के बीच की खाई को पाटता है, स्वदेशी शिल्प को संरक्षित करते हुए उन्हें मुख्यधारा की अर्थव्यवस्था में एकीकृत करता है।

प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम की आवेदन प्रक्रिया:


PMEGP के तहत बैंक से लोन के लिए ऑनलाइन आवेदन का तरीका निम्नलिखित है:

  • ऑनलाइन फॉर्म भरने के लिए PMEGP की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाएं
  • फिर वहां न्यू यूनिट का विकल्प दिखाई देगा उस पर क्लिक करे |
  • ऑनलाइन PMEGP एप्लीकेशन फॉर्म भरने के लिए दिशानिर्देशों का पालन करें और सभी ज़रूरी ध्यानपूर्वक जानकारी भरें
  • सभी आवश्यक जानकारी भरने के बाद, जानकारी सेव करने के लिए ‘Save Applicant Data’ पर क्लिक करें
  • एप्लीकेशन successfully जमा हो जाने के बाद, आवेदक का आईडी नंबर और पासवर्ड उसके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर भेज दिया जाएगा।
  • फिर आप एप्लीकेशन फॉर्म की प्रिंट आउट निकल लेवे
  • अब एप्लीकेशन फॉर्म के साथ आवशयक दस्तावेज को लगाये
  • फिर आप जिस भी बैंक से लोन लेना चाहते है उस बैंक शाखा में जाये अगर आप उस बैंक में जाये जहाँ आपका पहले से खाता हो तो आवेदन में थोड़ी सुविधा रहती है |
  • अब बैंक मेनेजर को फॉर्म देवे वो आपके फॉर्म की सभी जरुरी चीजे देखेगा सभी आवश्यकताये पूरी होने के बाद आपके आवेदन को स्वीकार कर लिया जायेगा और
  • लोन की राशी सीधे आपके बैंक खाते में जमा कर दी जाएगी |
Prime Minister Employment Generation Program 2023: जाने PMEGP के लिए आवेदन पत्र


सहायता के लिए पीएमईजीपी हेल्पलाइन नंबर 1800 3000 0034 और अधिक जानकारी के लिए राज्य-वार संपर्क नंबरों पर भी संपर्क कर सकते हैं। इसके बाद सबमिट किए गए आवेदनों की समीक्षा की जाती है और संबंधित अधिकारियों द्वारा उन पर कार्रवाई की जाती है।

PMEGP लोन के आवेदन की स्थिति देखनें की प्रक्रिया

अब आप अपने लोन की स्त्थिति भी जान सकते है की कब तक approveहोगा –

  • PMEGP की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाएं या इस लिंक पर क्लिक करें: क्लिक here
  • नया पेज खोलने के लिए ‘Login Form for Registered Applicant’ पर क्लिक करें
  • अपनी आईडी और पासवर्ड दर्ज करें यहाँ पर आपके मोबाइल में प्राप्त id और पासवर्ड डालने है |
  • लॉग-इन पर क्लिक करें
  • अंत में अपने PMEGP लोन एप्लीकेशन स्टेटस चैक करने के लिए, आपको ‘View Status’ पर क्लिक करना हे|
  • अब आप आसानी से अपने लोन को स्थिति को चैक कर सकते है |

प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम निष्कर्ष:


प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम (पीएमईजीपी) एक परिवर्तनकारी योजना है जो भारत में रोजगार परिदृश्य में क्रांतिकारी बदलाव लाने की क्षमता रखती है। व्यक्तियों को अपना व्यवसाय शुरू करने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करके, पीएमईजीपी न केवल स्वरोजगार के अवसर पैदा करता है बल्कि आर्थिक विकास, उद्यमिता और कौशल विकास को भी बढ़ावा देता है। सरकार इस program के तहत देश से बेरोजगारी दूर करना चाहती है , क्यूंकि सभी लोगों को सरकारी नौकरी नही मिलने वाली और न ही सरकार दे सकती हे|

इस program में नये रोजगार सर्जित होंगे कई लोगों को रोजगार मिलेंगे इससे देश में बेरोजगारी की दर कम होगी अन्त्ततः इसमें देश का ही भला होगा | जैसे ही हम आत्मनिर्भर भारत की ओर देखते हैं, पीएमईजीपी आशा की किरण बनकर उभरता है, जो युवाओं को अपनी समृद्ध सांस्कृतिक विरासत को संरक्षित करते हुए देश की प्रगति में योगदान देने के लिए एक मंच प्रदान करता है।

join my telegram channel JOIN
Join my WhatsApp group JOIN
Check for latest updaterjstudyexam
official website PMEGPclick here
https://www.kviconline.gov.in/
महत्त्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट www.rjstudyexam.com सरकारी नौकरी, सरकारी रिजल्ट, एडमिट कार्ड, सरकारी योजना, आंसर की, स्कॉलरशिप व लेटेस्ट न्यूज़ इत्यादि आप तक सबसे पहले पहुंचाने का कार्य कर रही हैं, सभी उम्मीदवारों से अनुरोध हैं कि हमारे व्हाट्सएप्प व टेलीग्राम से अवश्य जुड़ें।
  1. प्रधान मंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम (पीएमईजीपी) क्या है?

    पीएमईजीपी एक सरकारी योजना है जो ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में रोज़गार के अवसर पैदा करने के लिए बेरोजगार युवाओं को लोन प्रदान करती है।

  2. पीएमईजीपी के लिए योग्यता क्या है?

    आवेदक की आयु कम से कम 18 वर्ष होनी चाहिए और उन्होंने कम से कम 8 वीं कक्षा पास की होनी चाहिए।

  3. पीएमईजीपी लोन के तहत कितनी लागत तक का लोन मिलता है?

    पीएमईजीपी लोन के तहत सेवा इकाई के लिए 20 लाख रुपये और मैन्युफैक्चरिंग इकाई के लिए 50 लाख रुपये तक का लोन मिलता है।

  4. पीएमईजीपी लोन की ब्याज दर क्या है?

    लोन की ब्याज दर आवेदक की प्रोफाइल, क्रेडिट योग्यता, भुगतान क्षमता और प्रोजेक्ट की लागत पर निर्भर करती है।

  5. पीएमईजीपी लोन के तहत आवेदक को कितनी समय सीमा होती है?

    पीएमईजीपी लोन के तहत आवेदक को सामान्यत: 3 साल से 7 साल की समय सीमा मिलती है, जिसमें वह अपने लोन को वापस कर सकते हैं।

Leave a Comment